हाल ही में मोरक्को के अख़बार में यह दावा किया गया है कि ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ पैगंबर मुहम्मद की ब्लडलाइन से संबंधित उनकी डायरेक्ट वंशज हैं. पहले भी कई बार समय-समय पर ऐसे दावे किये जाते रहे हैं जिनमें स्पेन के मुस्लिम राजवंश से ब्रिटिश रानी को जोड़कर यह साबित करने की कोशिशें की जाती रही हैं कि, ब्रिटिश राजपरिवार की जड़ें कहीं ना कहीं इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद से जुड़ी हैं.

पैगंबर मुहम्मद की वंशज हैं ब्रिटेन की महारानी
Source

1986 में शाही वंश पर अध्ययन करने वाली संस्था बर्क्स पीरगे के पब्लिशिंग डायरेक्टर हैरल्ड बी ब्रूक्स बेकर ने यह दावा किया था. इतिहासकारों के दावे के अनुसार, एलिजाबेथ पैगंबर मुहम्मद की 43वीं पीढ़ी की सन्तान हैं.

इतिहासकारों की माने तो महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की ब्‍लडलाइन 14वीं सदी के अर्ल ऑफ कैंब्रिज से है और यह मध्‍यकालीन मुस्लिम स्‍पेन से लेकर पैगंबर की बेटी फातिमा से जाकर जुड़ती है.

फातिमा इस्लाम के पैगंबर मोहम्मद की बेटी थीं और बताया जाता है कि, उनके वंशज स्पेन के राजा थे, जिनसे महारानी का संबंध बताया जा रहा है. इसी वजह से, महारानी एलिजाबेथ को पैगंबर मोहम्मद का वंशज कहा जा रहा है.

पैगंबर मुहम्मद की वंशज हैं ब्रिटेन की महारानी
Source

बर्क्स पीरगे ने अपने दावे में कहा था कि महारानी मुस्लिम राजकुमारी जाइदा के परिवार से हैं. अलमोराविद्स ने जब अब्बासी सलतनत पर हमला किया तो जाइदा अपनी जान बचाने के लिए स्पेन के राजा किंग अल्फोंसो छठे के दरबार में पहुंच गई थी. वहां उन्होंने ईसाई धर्म अपना लिया और किंग से शादी करके अपना नाम इसाबेला रख लिया.

दावे के अनुसार, किंग से उनको एक लड़का पैदा हुआ जिनका नाम सांचा बताया जाता है. ब्रिटिश राजपरिवार के थर्ड अर्ल ऑफ कैंब्रिज रिचर्ड ऑफ कौन्सबर्ग सांचा के वंशज थे जो इंग्लैंड के किंग एडवर्ड तृतीय के पोते थे.

कम ही लोग जानते होंगे कि, सातवीं शताब्दी में स्पेन इस्लामिक हो गया था इसलिए स्पेन में इस्लाम का आरम्भ 711 ईसवी में अरबी उमैय्या के शासनकाल में माना जाता है. स्पेन में मुस्लिम शासन 1492 ईसवी तक रहा और बाद में वह पुनः एक इसाई देश बन गया.

LEAVE A REPLY