प्रकृति ने धरती पर रहने वाले हर प्राणी को वह सब कुछ दिया है जो कि किसी भी जीव के गुजारा करने के लिए आवश्यक होते हैं. धरती पर ऐसा कोई भी जीव नहीं है जो कि भूखा मरता हो लेकिन मानव एकमात्र ऐसी प्रजाति है जिसे कि, अपना पेट पालने के लिए दूसरों की गुलामी करनी पडती है, जिसे आजकल कमाना कहते हैं.

धरती पर इतनी कीमती वस्तुएं हैं, वो भी हर जगह हैं हर देश में हैं लेकिन लोग फिर भी गरीब हैं, दो जून की रोटी के लिये भी मोहताज हैं. दरअसल यह सब एक गहरी साजिश का नतीजा है जिसके जरिये दुनिया की एक एक चीज को हथिया लिया गया है और मानव प्रजाति को गुलाम बना लिया है.

क्या आप जानते हैं दुनियाभर के प्राकृतिक संसाधन हों, खनिज खदानें हों, पेट्रोलियम पदार्थ हो, सोने व हीरे का व्यापार करने वाली कंपनियां हों. रोजाना अरबों खरबों का खेल करने वाले हजारों बैंक हों फिर करेंसी नोटों की छपाई करने वाले सभी देशों के सेंट्रल बैंक हों, यहाँ तक खेतों के लिए खाद एवं बीज उपलब्ध कराने वाली कंपनियां हों लगभग हर चीज कुछ परिवारों की निजी संपत्ति है.

दुनिया में सबसे ज्यादा खनिज और सोना-हीरा अफ्रीकन देशों में पाया जाता है लेकिन वहां के लोगों में ऐसी भयंकर गरीबी है जिसे देखकर मानव होने पर शर्म आ जाय. आखिर क्या कारण है जो इतना कुछ होते हुए भी अफ्रीकन देशों के लोग गरीब क्यों हैं ? दरअसल उनकी पूरी संपत्ति कुछ परिवारों ने कब्जा ली है.

इन परिवारों के बारे में विस्तार से आगे के लेखों के बारे में बताया जाएगा, फ़िलहाल इस डाक्यूमेंट्री में जानें उन 5 मुख्य परिवारों के बारे में जो धरती पर राज करते है :

(वीडियो स्रोत : Science Day)

क्या है इल्लुमिनाती का रहस्य, क्या ये धरती पर राज करते हैं ?

इस तरह यहूदियों ने दिया था बैंकों को जन्म

बारूद, बम और जहरीली गैसें बनाने वाली कंपनियों की नजर अब भारतीय कृषि पर